Haryana Govt Jobs

नूह जिले के एजुकेशन वालंटियर्स ने विकास एवं पंचायत मंत्री को दिया ज्ञापन ।

सरकार से समायोजित करने की लगाई गुहार ।

नूह जिले के एजुकेशन वालंटियर्स ने विकास एवं पंचायत मंत्री को दिया ज्ञापन ।

सरकार से समायोजित करने की लगाई गुहार ।

आज मेवात दौरा पर आए हरियाणा सरकार के विकास एवं पंचायत मंत्री देवेंद्र सिंह बबली के सामने जिला नूह के एजुकेशन वालंटियर्स ने वर्तमान में कार्यरत सभी एजुकेशन वॉलिंटियर्स को कौशल रोजगार निगम में समायोजित करने की मांग की ।

मनीष यादव मण्डल अध्यक्ष पिनँगवां के द्वारा आयोजित कार्यक्रम में बतौर एजुकेशन वॉलिंटियर्स ने बताया कि नूह जिले के हजारों JBT , B.ED व MA पास अभ्यर्थी रोजगार कि तलाश में दर दर भटक रहें हैं इनमे से अधिकतर अभ्यर्थियों ने कई कई बार HTET , CTET पास किया हुआ है लेकिन फिर भी उन्हें रोजगार नहीं मिल पा रहा है विगत है कि पिछले छः वर्षों से कोई भी B .ED अध्यापक भर्ती और ग्यारह वर्षों से कोई भी JBTअध्यापक भर्ती नहीं हुई है आज नूह जिले में 1755 पद TGT 1909 पद PRT तथा 885 पद PGT के रिक्त हैं .नूह जिले में PRT,TGT,PGT व मुख्याध्यापकों सहित कुल मिलकर 9083 पद स्वीकृत हैं .जिनमे से 4686 कार्यरत हैं जबकि 4397 पद आज भी रिक्त हैं ।

सरकार से हमारी मांग है कि जब तक हरियाणा सरकार शिक्षकों की कोई रेगुलर भर्ती नहीं करती है तब तक कोशल के माध्यम से नूह जिले में खाली पदों को भरा जाए ।

हमारी ही तरह हरियाणा स्कूल शिक्षा परियोजना परिषद के के अधीन कार्य कर रहे वोकेशनल टीचर्स को भी हरियाणा कौशल रोजगार निगम में सम्मिलित कर लिया गया है ।

नीति आयोग के अनुसार नूह भारत का सबसे पिछड़ा जिला है . अतः इसके पिछड़ेपन को दूर करने के लिए जल्द से जल्द नूह जिले में अध्यापक भर्ती कराई जाए.

नूह में बेरोजगारी को ध्यान में रखते हुए यंहा के स्थानीय अभ्यर्थियों को ही तरजीह दी जाए .

वर्तमान में कार्यरत सभी एजुकेशन वॉलिंटियर्स को कौशल रोजगार निगम में सम्मिलित किया जाए ।

हमें उम्मीद ही नहीं पूर्ण विश्वास है की हमारी मांगो को सरकार जल्दी ही पूर्ण करेंगे ।।

इस मौके पर मोहित , इमरान , शाहिब , अजीम , सकुन्त , आरिफ , उमेश , संजय , शहनाज आजम , व नसीम उपस्थित रहे ।

क्या कहना मंत्री का

विकास एवं पंचायत मंत्री श्री देवेंद्र सिंह बबली ने मोबाइल नंबर नोट करके एजुकेशन वालंटियर्स को आश्वासन दिया ।

Related Articles

Back to top button